सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

अब राजनोता में राधा कृष्ण की मूर्ति खंडित, प्रशासन पहुंचा मौके पर

न्यूज़ चक्र, कोटपूतली। जयपुर ग्रामीण के प्रागपुरा थाना अंतर्गत राजनोता गांव में देर रात समाजकंटकों द्वारा राधा कृष्ण मंदिर में मूर्ति खंडित कर फेंकने का प्रकरण सामने आया है। पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार घटना देर रात की है। घटना की सूचना के बाद मौके पर कोटपूतली एएसपी रामकुमार कस्वा, डीवाईएसपी दिनेश यादव, व प्रागपुरा व कोटपूतली थानाधकारी ने भारी पुलिस जाब्ते के साथ घटनास्थल का मौका मुआयना किया है। पुलिस आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है।


आपको बता दें कि इससे पहले भी प्रागपुरा व मंढ़ा गांव में समाजकंटकों द्वारा राधा कृष्ण की मूर्तियों को निशाना बनाया जा चुका है। जिसको लेकर लोगों ने भारी रोष भी जताया था।  
घटना के बाद से ही पुलिस प्रशासन ने अपनी छानबीन तेज कर दी है। पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार मंदिर से कुछ दूरी पर ही मूर्तियों की पोशाक व छत्र मिले हैं। साथ ही मूर्ति के खंडित हिस्से भी मिले हैं। पुलिस प्रशासन ने आमजन से धैर्य रखने की अपील की है और कहा है कि मामले के अपराधियों को शीघ्र गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
समाचार लिखे जाने तक मौके पर भारी पुलिस जाब्ता तैनात है और पुलिस गहनता से छानबीन में जुटी हुई है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाजपा किसान मोर्चा द्वारा विभिन्न स्थानों पर किसान चौपाल का आयोजन

कोटपूतली। केन्द्र सरकार द्वारा पारित किये गये कृषि सुधार कानून 2020 के समर्थन में भाजपा किसान मोर्चा के कार्यकर्ताओं द्वारा जिलाध्यक्ष शंकर लाल कसाना के नेतृत्व में विभिन्न गाँवों में किसान चैपाल का आयोजन किया गया।  इस दौरान कसाना समेत पार्टी पदाधिकारियों व किसान नेताओं ने तीनों कृषि कानूनों के समर्थन में ग्रामीणों व कृषकों को इससे होने वाले फायदों की जानकारी दी। साथ ही किसानों व खेत मजदूरों को नये कानून से मिलने वाले लाभ गिनवाते हुए जागरूक भी किया।  कसाना ने कहा कि नये कृषि कानून देश भर के किसान व मजदूर भाईयों के हित में है। विपक्ष केवल किसानों को बरगलाकर राजनैतिक लाभ उठाना चाहता है। इसके अलावा रविवार को किसान मोर्चा कार्यकर्ताओं ने विभिन्न स्थानों पर लोगों के लिए प्रधानमंत्री के मन की बात कार्यक्रम का आयोजन भी किया।

मोदी जी, संविधान में करो संशोधन ऐसा... कि बलात्कारियों का भी बलात्कार हो जाए

दोस्तों नमस्कार,  ब्लॉगवाणी पर मैं शालू आपका स्वागत करती हूं। दोस्तों, कल रात मैं पुराने अखबारों को एक-एक कर देख रही थी,  छांट रही थी कबाड़ी को रद्दी देने के लिए।  इस दौरान जिस भी दिनांक का अखबार मेरे हाथ में आता गया ....कमोबेश सभी में... 3- 4 खबरें बलात्कार और महिला उत्पीड़न की थी। इनमें से कई खबरें तो अखबार के मेन पेज, व आखिरी पेज पर थी। ... देख- देख कर कलेजा बैठ सा गया।... क्या हो गया है देश को। क्या हैवानियत... दरिंदगी और हवस ही बस गई है मेरे देश के पुरुषों में !?  छी... धिक्कार है... घिन्न आती है मुझे उन लोगों पर भी... जो नारी को 'पूजनीय' बताने की बात करते हैं,  और ऐसी घटनाओं पर उनके मुंह पर डर की पट्टी बंधी रहती है।  वैसे भी नारी कब थी पूजनीय! 'अपनी मां' के चरण स्पर्श कर लेने से नारी पूजनीय सार्थक नहीं हो जाता। ... अखबार समाचार चीख रहे हैं... 6 महीने की मासूम तक को नहीं बख्श रहे हैं दरिंदे... उफ...कहते और बात करते भी कलेजा बैठता हैं। देश के प्रधानमंत्री 'बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ' की बात करते हैं... लेकिन बेटियां ना कोख में बच रही हैं ना देश में।  याद ह

बहरोड़ के इस अस्पताल ने मरीज के शव को बाहर धूप में पटका, विरोध, नारेबाजी और मीडिया के कैमरे छीने

न्यूज़ चक्र/ब्लॉग वाणी। निकटवर्ती बहरोड़ में नेशनल हाईवे पर स्थित पार्क कैलाश अस्पताल  से मानवता को शर्मसार कर देने वाली तस्वीरें सामने आई है। बताया जा रहा है कि यहां एक मरीज की इलाज के दौरान मौत हो गई और उसके बाद अस्पताल प्रशासन ने मृतक का शव बाहर खुले में धूप में पटक दिया। परिजनों ने अस्पताल प्रशासन पर रुपए वसूली के आरोप लगाए हैं। वहीं इस घटना की कवरेज करने पहुंचे पत्रकारों को भी अस्पताल के बाउंसरों का सामना करना पड़ा। आपको बता दें कि बहरोड के पार्क कैलाश अस्पताल में मरीज की मौत के बाद परिजनों ने मृतक का शव बाहर खुले में धूप में पटकने का विरोध किया था और इसकी शिकायत अस्पताल प्रबंधन से की थी। लेकिन जब अस्पताल प्रबंधन ने हठधर्मिता दिखाई तो परिजनों ने मीडिया को सूचना दी।  सूचना पर मौके पर पहुंचे मीडिया कर्मियों को अस्पताल के  बाउंसर का सामना करना पड़ा, यहां तक कि मीडिया कर्मियों ने आरोप लगाया है कि अस्पताल के बाउचरों ने कैमरे छीन लिए और धक्का-मुक्की की। बाद में मीडिया कर्मियों ने अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी की और मौके पर पहुंचे बहरोड़ थाना अधिकारी व

कृपया फोलो/ Follow करें।

कुल पेज दृश्य